शुद्ध पेयजल को तरस  रही मोकामा की जनता

शुद्ध पेयजल को तरस रही मोकामा की जनता । (The people of Mokama are yearning for pure drinking water)

बिहार।पटना।मोकामा।मोकामा के वार्ड न. 6 में पिछले कई महीने से शुद्ध पेयजल का गंभीर संकट है। अभी जबकि सर्दियों का मौसम चल रहा है।वार्ड पार्षद सोएब खान ने अधिकारीयों से गुहार लगाया है की जल्द से जल्द उनके वार्ड में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाय।मोकामा के लोग, विशेष रूप से वार्ड संख्या 6 में रहने वाले लोग, कई महीनों से शुद्ध पेयजल की भारी कमी झेल रहे हैं। सर्दियों के मौसम में यह मुद्दा और भी अधिक गंभीर हो जाता है जब अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण को बनाए रखने के लिए स्वच्छ पानी तक पहुंच महत्वपूर्ण है।हालाँकि पानी की खपत गर्मियों के मुकाबले सर्दियों में आधी से भी कम हो जाती है।

(The people of Mokama are yearning for pure drinking water)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

The people of Mokama are yearning for pure drinking water
विज्ञापन

वार्ड पार्षद सोएब खान ने अपने मतदाताओं के स्वच्छ पेयजल के बुनियादी अधिकार की वकालत करने का बीड़ा उठाया है(Ward councilor Soyeb Khan has taken up the lead in advocating for his voters’ basic right to clean drinking water.)

स्थिति की गंभीरता को समझते हुए, वार्ड पार्षद सोएब खान ने अपने मतदाताओं के स्वच्छ पेयजल के बुनियादी अधिकार की वकालत करने का बीड़ा उठाया है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से संपर्क किया है और उनसे अपने वार्ड में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति को प्राथमिकता देने और उसमें तेजी लाने का आग्रह किया है।सुरक्षित पेयजल की पहुंच की कमी मोकामा वार्ड संख्या में निवासियों के स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए महत्वपूर्ण जोखिम पैदा करती है। वार्ड न. 6 में स्वच्छ पानी के विश्वसनीय स्रोत के बिना,जनता जनार्दन को वैकल्पिक तरीकों पर निर्भर रहने के लिए मजबूर होना पड़ता है जैसे कि महंगा बोतलबंद पानी खरीदना या अविश्वसनीय स्रोतों से अनफ़िल्टर्ड पानी का उपयोग करना। ये विकल्प न केवल उनके वित्तीय संसाधनों पर दबाव डालते हैं बल्कि उन्हें संभावित स्वास्थ्य खतरों के लिए भी उजागर करते हैं। (The people of Mokama are yearning for pure drinking water)

शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की कमी के कारण, समुदायों को कई चुनौतियों और संभावित स्वास्थ्य जोखिमों का सामना करना पड़ रहा है।(Due to lack of supply of pure drinking water, communities are facing many challenges and potential health risks)

शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की कमी के कारण, समुदायों को कई चुनौतियों और संभावित स्वास्थ्य जोखिमों का सामना करना पड़ रहा है। स्वच्छ जल स्रोतों की कमी एक गंभीर मुद्दा बन गई है, खासकर वार्ड न.6 में जहां प्राकृतिक संसाधन सीमित या दूषित हैं।स्वच्छ पानी तक पहुंच के बिना, व्यक्ति असुरक्षित विकल्पों का उपभोग करने के लिए मजबूर होते हैं जिनमें हानिकारक बैक्टीरिया, वायरस या रासायनिक प्रदूषक हो सकते हैं। इससे हैजा, पेचिश या टाइफाइड बुखार जैसी विभिन्न जलजनित बीमारियाँ हो सकती हैं। उचित स्वच्छता सुविधाओं की कमी इन स्वास्थ्य जोखिमों को और बढ़ा देती है, क्योंकि दूषित पानी आसानी से भोजन और रहने के क्षेत्रों को दूषित कर सकता है।इसके अलावा, शुद्ध पेयजल की कमी का बच्चों और बुजुर्गों जैसी कमजोर आबादी पर गंभीर प्रभाव पड़ता है। जो बच्चे दूषित पानी का सेवन करते हैं, उनकी कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण बीमारियों और संक्रमणों की आशंका अधिक होती है। इसके अतिरिक्त, वृद्ध वयस्कों में पहले से ही प्रतिरक्षा प्रणाली या पहले से मौजूद स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जो उन्हें प्रतिकूल प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील बनाती हैं। (The people of Mokama are yearning for pure drinking water)

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

The people of Mokama are yearning for pure drinking water
विज्ञापन

देश और दुनिया की इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-राम मंदिर के भक्तों के लिए अयोध्या में 10 अवश्य घूमने योग्य स्थान

ये भी पढ़ें:-भारतीय राजनीति में 6 सबसे प्रभावशाली महिलाएं

error: Content is protected !!