गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर दिखेगा मोकामा के गंगाजल का जादू

गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर दिखेगा मोकामा के गंगाजल का जादू। (The magic of Mokama’s Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day)

बिहार।पटना।मोकामा। इस बार गणतंत्र दिवस पर आयोजित परेड भविष्य के विकसित भारत की झलक दिखलाएगा। कर्तव्य पथ पर निकाली जाने वाली केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों की झांकी में इस बात का खास ख्याल रखा गया है। शुक्रवार को झांकियों के चयन को लेकर डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन में तीसरे दौर की बैठक हुई। बिहार की झांकी में गंगाजल प्रदर्शित किया जाएगा। राज्य सरकार दिखाएगी कि वह अपने निवासियों को नलों के जरिये गंगाजल की आपूर्ति कर रही है। (The magic of Mokama’s Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

The magic of Mokama's Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day
विज्ञापन

बिहार की झांकी पवित्र गंगा जल के संरक्षण और उपयोग के लिए राज्य की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करेगी(Bihar tableau will showcase the state’s commitment to conserve and utilize the sacred Ganga water)

बिहार की झांकी न केवल पवित्र गंगा जल के संरक्षण और उपयोग के लिए राज्य की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करेगी, बल्कि अपने नागरिकों को स्थायी आपूर्ति सुनिश्चित करने के प्रयासों को भी उजागर करेगी। प्रदर्शन में पाइपलाइनों और बुनियादी ढांचे के जटिल नेटवर्क को दर्शाया जाएगा जो राज्य के विभिन्न हिस्सों में गंगा जल के वितरण को सक्षम बनाता है।इसके अतिरिक्त, झांकी जल संरक्षण और शुद्धिकरण तकनीकों पर बिहार के फोकस पर जोर देगी। यह गंगा के पानी को उपचारित और शुद्ध करने के लिए राज्य सरकार द्वारा अपनाए गए नवीन तरीकों का प्रदर्शन करेगा, जिससे घरों और समुदायों तक पहुंचने से पहले इसकी गुणवत्ता सुनिश्चित हो सके। (The magic of Mokama’s Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day)

मुख्यमंत्री नितीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत पहाड़ ने निकली गंगा मैदान से होकर पहाड़ों तक पहुंचा दी गई है(Under the dream project of Chief Minister Nitish Kumar, Ganga has emerged from the mountain and has been taken to the mountains through the plains.)

मुख्यमंत्री नितीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत पहाड़ ने निकली गंगा मैदान से होकर पहाड़ों तक पहुंचा दी गई है। मोकामा स्थित हाथीदह से होकर बहने वाली गंगा नदी के जल को 151 किमी तक पाइपलाइन से राजगीर, गया एवं बोधगया ले जाया गया है। ऊंचाई पर जल ले जाने के लिए पंप का इस्‍तेमाल किया गया है। गंगाजल को ले जाने के लिए हाथीदह-मोकामा से मोतनाजे नवादा तक 85 किलोमीटर, मोतनाजे से तेतर 23 किलोमीटर, मानपुर 28 किलोमीटर; मोकामा से बोधगया तक कुल 151 किलोमीटर पाइपलाइन बिछाई गई है। (The magic of Mokama’s Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day)

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

The magic of Mokama's Ganga water will be visible on Rajpath on the occasion of Republic Day
विज्ञापन

देश और दुनिया की इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-राम मंदिर के भक्तों के लिए अयोध्या में 10 अवश्य घूमने योग्य स्थान

ये भी पढ़ें:-भारतीय राजनीति में 6 सबसे प्रभावशाली महिलाएं

error: Content is protected !!