बाबा परशुराम के आशीर्वाद से करें 2024 की शुरुआत ,बाबा के आशीर्वाद से सुखमय रहेगा पूरा साल

बाबा परशुराम के आशीर्वाद से करें 2024 की शुरुआत ,बाबा के आशीर्वाद से सुखमय रहेगा पूरा साल । (Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram)

बिहार।पटना।मोकामा।बाबा परशुराम के आशीर्वाद से शुरू करें नया साल ,पूरा साल रहेगा सुखमय । मोकामा के पूर्वी और पश्चिमी छोड़ पर अव्स्तिथ बाबा परशुराम का का अति प्राचीन मन्दिर बिहार के सबसे बड़े आस्था केन्द्रों में से एक है ।बाबा परशुराम की येसी महिमा है कि बिहार से बाहर के श्रद्धालु भी नये साल के अवसर पर बाबा परशुराम की पूजा आराधना करने मोकामा आते हैं ।2024 की शुरुआत में बाबा परशुराम के दर्शन से पूरे साल के लिए सकारात्मक माहौल बनेगा। जैसे ही भक्त मोकामा के प्राचीन मंदिर में पहुचेंगे, वे अपने साथ आने वाले महीनों के लिए अपनी आशाएं, सपने और आकांक्षाएं लेकर आयेंगे । येसी मान्यता है कि बाबा परशुराम का आशीर्वाद उन लोगों के लिए खुशी, समृद्धि और संपूर्णता लाता है । (Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram
विज्ञापन

भगवान परशुराम का चरित्र तप, संयम, शक्ति, पराक्रम, ज्ञान, संस्कार, कर्तव्य, सेवा, परोपकार का आदर्श प्रतीक है(The character of Lord Parshuram is the ideal symbol of penance, restraint, strength, bravery, knowledge, values, duty, service, philanthropy.)

विष्णु के दशावतारों में से छठे अवतार माने जाने वाले भगवान परशुराम का सामाजिक योगदान यह था कि उन्होने अन्याय, अत्याचार, अनाचार, कदाचार के विरूद्ध खडा होकर उसका त्वरित मुक़ाबला किया।परशुराम ने मदांध हैहय वंशीय राजाओं का संहार किया, जो शोषक और आततायी हो चुके थे। हर युग में भगवान परशुराम जी ने समाज में सामाजिक न्याय एवं समानता की स्थापना के लिए अपना अतुलनीय योगदान दिया। अष्ट चिरंजीवियों में शामिल भगवान परशुराम जी कलियुग में होने वाले भगवान के कल्कि अवतार में उन्हें वेद-वेदाङ्ग की शिक्षा प्रदान करेंगे। कोई भी पुराण भगवान परशुराम जी के पावन चरित्र के बगैर पूर्ण नहीं होता।अगर मनोबल पाने के लिए धार्मिक उपायों पर गौर करें, तो शास्त्रों में विष्णु अवतार भगवान परशुराम की उपासना श्रेष्ठ मानी गई है। क्योंकि भगवान परशुराम का चरित्र तप, संयम, शक्ति, पराक्रम, ज्ञान, संस्कार, कर्तव्य, सेवा, परोपकार का आदर्श प्रतीक है। (Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram)

बाबा परशुराम का यह मंदिर अपने आप में अत्यधिक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व रखता है(This temple of Baba Parshuram has immense historical and cultural importance in itself.)

यह मंदिर अपने आप में अत्यधिक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व रखता है। मोकामा के पूर्वी और पश्चिमी दोनों किनारों पर स्थित, यह बिहार के लोगों की स्थायी आस्था के प्रमाण के रूप में खड़ा है। इसकी भव्यता और आध्यात्मिक आभा न केवल स्थानीय लोगों को बल्कि दूर-दराज के स्थानों से आने वाले भक्तों को भी आकर्षित करती है जो अपने वर्ष की शुरुआत बाबा परशुराम के आशीर्वाद के साथ करना चाहते हैं।नए साल के अवसर पर तडके सुबह से ही भक्त बाबा परशुराम मन्दिर के प्रांगन में पहुंचना शुरू हो जाते हैं। यंहा का वातावरण भक्ति, उत्साह और ख़ुशी से भरा होता है।बाबा परशुराम की आरती के समय हजारों श्रद्धालु भक्ति भाव से हाथ जोडकर बाबा का आशीर्वाद लेते हैं । (Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram)

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

Start 2024 with the blessings of Baba Parshuram
विज्ञापन

देश और दुनिया की इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-राम मंदिर के भक्तों के लिए अयोध्या में 10 अवश्य घूमने योग्य स्थान

ये भी पढ़ें:-भारतीय राजनीति में 6 सबसे प्रभावशाली महिलाएं

error: Content is protected !!