नगर परिषद मोकामा के प्रधान लिपिक संजीव कुमार को मातृ शोक

नगर परिषद मोकामा के प्रधान लिपिक संजीव कुमार को मातृ शोक। (Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama)

बिहार।पटना।मोकामा।नगर परिषद मोकामा के प्रधान लिपिक संजीव कुमार की मां का आज तडके निधन हो गया। वह 80 साल की थीं और पिछले कुछ समय से गंभीर रूप से बीमार थीं। निधन की सूचना मिलते ही सामाजिक कार्यकर्ताओं ने पहुंचकर इनके परिजनों के प्रति संवेदना जताई। शोक संवेदना प्रकट करने वालों में शैलेश कुमार,नगर परिषद् कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार,सामाजिक कार्यकर्ता छातिन्द्र प्रसाद सिंह ,वार्ड पार्षद हरेकृष्ण , गौतम महात्मा आदि शामिल थे । (Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama
विज्ञापन

प्रधान लिपिक संजीव कुमार की मां के आकस्मिक निधन से पूरा समुदाय सदमे में है(The entire community is shocked by the sudden demise of head clerk Sanjeev Kumar’s mother)

नगर परिषद मोकामा के प्रधान लिपिक संजीव कुमार की मां के आकस्मिक निधन से पूरा समुदाय सदमे में है । 80 साल की उम्र में और पिछले कुछ समय से गंभीर बीमारी से जूझते हुए, उनका निधन पूरी तरह से अप्रत्याशित नहीं था। हालाँकि, यह खबर अभी भी उन्हें जानने वाले सभी लोगों को प्रभावित कर रही थी। जैसे ही आज उनके निधन की खबर फैली, विभिन्न संगठनों के सामाजिक कार्यकर्ता शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं और समर्थन देने के लिए दौड़ पड़े। इनमें नगर परिषद के एक सम्मानित जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता छतीन्द्र प्रसाद सिंह भी शामिल थे, जो सामुदायिक कल्याण के प्रति अपने समर्पण के लिए जाने जाते हैं। इस कठिन समय में उनकी उपस्थिति से संजीव और उनके परिवार को सांत्वना मिली। (Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama)

कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार ने भी व्यक्तिगत रूप से अपनी संवेदना व्यक्त की(Executive Officer Mukesh Kumar also personally expressed his condolences)

नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार ने भी व्यक्तिगत रूप से अपनी संवेदना व्यक्त की। अपने दयालु स्वभाव और सार्वजनिक सेवा के प्रति प्रतिबद्धता के लिए जाने जाने वाले मुकेश ने दुख के समय में एक-दूसरे के साथ खड़े रहने के महत्व को समझा।नगर परिषद के लेखापाल पवन कुमार और कई अन्य नगर कर्मी भी संजीव कुमार को सान्त्वना देने पहुचे थे ।ऐसे कठिन समय के दौरान अपने सहकर्मियों से प्यार और देखभाल महसूस करना उसके लिए कितना आरामदायक रहा होगा? ये छोटे-छोटे संकेत हैं जो हमें मानवीय संबंध और एकजुटता की शक्ति की याद दिलाते हैं। (Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama)

प्रधान लिपिक संजीव कुमार की मां वेहद ही धार्मिक और घरेलू महिला थी(Principal Clerk Sanjeev Kumar’s mother was a very religious and domestic woman.)

प्रधान लिपिक संजीव कुमार की मां वेहद ही धार्मिक और घरेलू महिला थी , वह समाजिक कार्यों में बढ़ चढ़ कर भाग लेती थीं ।इनके निधन से पुरे समुदाय में शोक की लहर है। प्रधान लिपिक संजीव कुमार की माँ सिर्फ एक धार्मिक और घरेलू महिला नहीं थीं; वह उनके समुदाय में प्रकाश की किरण थी। अपनी अटूट आस्था और दयालु स्वभाव के लिए जानी जाने वाली उन्होंने अपना जीवन दूसरों की सेवा के लिए समर्पित कर दिया। चाहे वह दान अभियान आयोजित करना हो, स्थानीय देव स्थलों में स्वयंसेवा करना हो, या जरूरतमंद लोगों की मदद करना हो, उनकी निस्वार्थता ने कई लोगों के जीवन को प्रभावित किया।आज, कार्तिक पूर्णिमा के पवित्र अवसर पर, उनकी यात्रा अपने अंतिम गंतव्य पर पहुंच गई और आज ही उन्हें मोक्ष प्राप्त हुआ।उनके निधन से एक खालीपन पैदा हो गया है जिसे पूरे समुदाय में गहराई से महसूस किया जा सकता है। उनके निधन की खबर जंगल की आग की तरह फैल गई, जिससे दोस्तों, पड़ोसियों और परिचितों में दुख और उदासी फैल गई। जीवन के सभी क्षेत्रों से लोग इस उल्लेखनीय महिला के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए एक साथ आए। (Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama)

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

Maternal condolence to Sanjeev Kumar Principal Clerk of Municipal Council Mokama
विज्ञापन

देश और दुनिया की इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-राम मंदिर के भक्तों के लिए अयोध्या में 10 अवश्य घूमने योग्य स्थान

ये भी पढ़ें:-भारतीय राजनीति में 6 सबसे प्रभावशाली महिलाएं

error: Content is protected !!